loading...
Get Indian Girls For Sex
   

Click Here To Get Full Post >>>प्रेमिका की चूत को हांका भैंस की तरह - Hindi Sex Stories - Indian Sex Bazar

Read More >>> प्रेमिका की चूत को हांका भैंस की तरह - Hindi Sex Stories - Indian Sex Bazar

प्रेमिका की चूत को हांका भैंस की तरह - Hindi Sex Stories

mallika-sherawat-fucked-2

मैं अपनी २२ वर्षीय प्रेमिका से बहुत प्यार करता था और पर कहता हैं न जब सेक्स का ख्याल दिमाक में एक बार आ जाता है तो कोई उसका तोड़ नहीं निकाल पाता | तो मुझे हालही में इन्टरनेट पर सेक्स विडियो की देखने की आदत लग पड़ी और फिर सेक्स का असीम सुख को भी मैं जाने लगा | अब जब हस्थमैथुन कर करके थक चूका था जब मेरे दिमाक में ख्याल आया की बगल में बच्चा शहर में ढिंढोरा | अब मैंने अपनी गर्लफ्रेंड से बात कम रोमांस ज्यादा ही करता तह और उसे भी मेरी हरकतें खूब रास आया करती थी | एक दिन मैंने जोश में आकार चूत चुदाई का प्लान बना ही लिया और उसे शाम को अपने घर बुलाया |

जब वो आई तो मैंने बड़े ही प्यास से उससे रोमांटिक बातें से की और मैंने उससे लिपटते हुए चुम्मा चाटी शुरू कर दी | वो हैरान थी पर मैंने उसे ऐसा सहलाया की मुझे उसपर प्यारा आ रहा था और मैंने हौले हौले उसके टॉप को भी उतार दिया और उसके होंठों की चुसाई करते हुए उसके ब्रा को भी उतार उसके चुचों को पीने लगा | वो भी कामुक मज़े में डूब चुकी थी और सिसकियाँ भरती जा रही थी और मैंने हौले हौले उसकी पैंटी को भी उतार दिया | उसे देखा ऐसा लग रहा था की जैसे उसे कोई होश ही नहीं है और मैं उसकी चूत मसलते हुए ऊँगली देनी चालू कर दिया |

मेरी जानेमन भी मस्त वाली सिकारियां लेती हुई तडप रही थी और अब तक मैंने भी लंड को उसकी चूत में देकर धक्के देते लगा | उसे दर्द बहुत हुआ शुरुआत में जो धीरे धीरे हवा होने लगा और उसकी सिस्कारियों में यौन सुख का आनंद दिखाई पड़ रहा था | मैंने अपने लंड की रफ़्तार को बड़ा दिया बस उसकी चुदाई किये जा रहे थे | मैं करीब पहल पारी में १० मिनट में झड गया जिसके बाद वहीँ मैं उसके बाजू में लेट गया | मैं अब उससे रोमांटिक बातें करते हुए उसकी चूत में ऊँगली करने लगा | वो अब पुरे बदन को सिकोड़ती बस गुदगुदाए जा रही थी |

अगली पारी में मैं मैंने लेटे हुए उसे अपनी बाहों में जकड लिया और हलके से लंड को सरकाकर उसकी चूत में धकेल दिया और फिर से उसकी चूत चुदाई में चालू हो गया | वो मज़े में सीत्कारें भारती हुई चुदी जाने के मज़े को लुट रही थी | हम दोनों के सर पर वासना का भुत सवार हो चूका था और मैं उसे किसी भेंस की तरह बस अपने लंड के आगे हांके जा रहा था | वो जरों से चिल्ला रही थी जैसे की अब उसकी चूत ही फट पड़ेगी और मैं उसकी चूत से खुल निकल रहा और अब मेरे लंड से मुठ निकलने को हो चूका था | अब मैंने अचानक से अपने लंड को हल्का सा खींचा और सारा मुठ वहीँ उसके चूतडों पर फुव्वारे की तरह छोड़ दिया | मेरी प्रेमि़क के साथ हवस की प्यास भुजाकार अब वो म&#