Get Indian Girls For Sex
   

ब्रा उतारकर मैंने अपने मोटे मोटे बोबे दबवाए और चुदवाये

Hot Busty Jasmine Jae Fucked Nicely for money Porn will satisfy your XXX desires  Full HD Nude fucking image Collection_00046

प्यारे दोस्तों, मैं अंजली, और मैं वापस हाज़िर हु और एक रोमांचक चुदाई का अनुभव लेकर. बात २ साल पहले अप्रैल महीने की है. मेरे जीवन में चुदाई जहाँ सबसे महत्वूर्ण जगह रखती है, वहीं एक और बन्दा था; जिसके लिए चुदाई उतने ही मायने रखती थी जितने कि मेरे लिए. उस नवयुवक का नाम है सूरज. चुदाई का बादशाह है वो. कोई लड़की एक बार उससे बात कर ले, तो उसके बाद वो उससे चुदाई करवाने के लिए अपनी जान न्योछावर कर दे उसपर. इतना ज्यादा चार्मिंग था. कद था उसका ६ फिट २ इंच और बिल्ट भी अच्छी खासी थी. इतनी मजबूत दिखने वाली चौड़ी और उची छाती, जिस से किसी भी लड़की का दिल अपने स्तन को दबवाने का हो जाए.

वैसे ही एक दिन, मेरा मिलना सूरज से हुआ. कॉलेज में फेयर लगा था और वो अपने कुछ दोस्तों के साथ फेयर अटेंड करने आया था. उसके सारे दोस्त तो झल्ले थे और वो इतना ज्यादा हैण्डसम और चार्मिंग. उसकी एक स्माइल ही किसी लड़की को घायल करने के लिए काफी थी. लडकिया मरती थी उस पर, कि एक रात उसके साथ गुजारने के लिए मिल जाए. मैंने भी सुन तो बहुत रखा था उसके बारे में. पर मिलना उस रोज़ पहली बार हुआ. हमारा एक कॉमन फ्रेंड, हमें इंट्रोडीयूज़ करवाने लगा, एक दुसरे से. उसने मुझे “हाई” कहके मुझसे हाथ मिलाया. जो ही, मैंने उसका हाथ अपने हाथ में लिया, उसकी आँखे मेरी मेरी आँखों में गड चुकी थी और मानो कह रही हो. हाथ छोड़ो मेरा, हाथ छोड़कर, तुम्हारे स्तनों को पकड़ लेता हुआ. इतना प्यारा और कोमलता भरा स्पर्श था उसका. जी चाहा, कि वो दफा मेरे पुरे बदन पर अपनी उंगलिया फिरा दे; तो मज़ा आ जावे. मैंने दो मिनट तक उसका हाथ नहीं छोड़ा, ना ही उसने मेरा हाथ छोड़ा. हम आँखों ही आँखों में अपनी ठरक एक दुसरे को दिखाने लगे थे

कुछ देर हम लोगो ने दोस्त के साथ बैठकर बातें की, खाया पिया और मस्ती की. उसके बाद, जैसे ही जाने का समय आया, उसने मुझसे कहा – कि वो मुझे मेरे घर ड्राप कर देगा और बाकी दोस्त निकल गये, अपने – अपने घर की तरफ. चुकि रात काफी हो चुकी थी, करीब १:३० बज रहा था रात का. जैसे ही सारे दोस्त रवाना हुए, उसने मुझे अपनी गाड़ी की तरफ इशारा करते हुए कहा, कि मैं उसकी तरफ चलू. मैं चलने लगी, अब मैं पहुचने ही वाली थी गाडी के पास. तब वो अचानक पीछे से आया और मुझे मेरी कमर को छुने लगा हलके हलके. सड़क थी और रात का वक्त. मुझे थोड़ी घबराहट और हिचकिचाहट भी. पर सड़क सुनसान थी और दूर – दूर एक कोई भी नज़र नहीं आ रहा था. उसने मुझे और छुने की कोशिश की. हलाकि, मैं तो मरे जा रही थी, उससे अपनी चूत चुदवाने के लिए. पर फिर भी मुझे थोड़ी शर्म आ रही थी. पहली बार किसी को मिलो और ये सब. थोडा अजीब लग रहा था. मन में ये भी आ रहा था, कि अपने बाकी दोस्तों को ना बता दे जाके. कि उसने मेरे साथ ये किया.

२ मिनट, मैं खुद को रोकती रही, कि मैं जवाब ना दू पलट कर और अपनी वासना को अपने ऊपर हावी ना होने दू. पर वो था ही इतना रसीला, कि रुका ही नहीं जा रहा था. फिर, मैं उसको कुछ कहने के लिए जैसे ही पलटी, उसने अपने हाथ मेरी कमर में डाल दिए और मुझे अपनी तरफ खीच लिया. मेरे स्तन उसकी मजबूत छाती में चिपक गये. मेरी साँसे बहुत तेज थी. उसके और मेरे होठो के बीच में अब सिर्फ एक ऊँगली का फासला ही रह गया था.

वो भी कम बदमाश नहीं था. ऐसे लड़के किस को पसंद नहीं होते. फटाफट से हाथ मेरी कमर के ऊपर लेते हुए, मेरी रेड कलर की टॉप के अन्दर डाला और मेरे स्तनों को छु लिया. मैं चाह कर भी खुद को रोक नहीं पा रही थी और मदमस्त होने लगी. उसकी आँखों में आँखे डुबाये, उसकी अगली पहल का इंतज़ार करने लगी. अब समझ आता है, कि वो बड़ा ही एक्सपीरियंसड बंदा था और उसने वाकई में बहुत सी लडकियो की चुदाई की होगी पक्के से. वो सब जो मैंने उसके बारे में सुना था; वो सब सच था, कोई अफवाह नहीं थी. किसी जादूगर से कम नहीं था वो लड़का.

ख़ैर, आगे ये हुआ कि, उसने अपनी उंगलिया मेरी पीठ और कमर पर फिसलानी शुरू की और मुझे भी बड़ा मज़ा आने लगा. मेरी चूत तो पहले से ही गीली होने लगी और मुझसे रुका नहीं जा रहा था. उसने एक सेकंड के अन्दर मेरा ब्रा का हुक एक हाथ से खोल दिया और आगे की तरफ लाया…. और बस. देखते ही देखते, मेरा टॉप उतारकर, ब्रा हटाकर, मुझे गाडी के बोनेट पर लेटा कर के, उसने मेरी चुचियो को अपने हाथ में भर लिया और मेरे होठो को चूमने लगा. मेरे ३६ डीडी साइज़ के स्तन उसके हाथ में ही नहीं समां रहे थे. उसे बड़ा मज़ा आ रहा था. उसकी लार जो टपक रही थी, उसे सब समझ आ रहा था.. अहहहहा…

मेरी भी सारी झिझक निकल गयी और मैं मदमस्त होने लगी. रात का अँधेरा – तारो का उजाला के तले, इतने हॉट और सेक्सी लड़के से खुदको चुदवाना कोई सपने से कम नहीं था. उसने झट से अपना लंड बाहर निकाला और मेरे मुह के सामने ला दिया. इतना बड़ा और मोटा लंड, मैंने अपनी जिन्दगी में पहले कभी नहीं देखा था. मैं तो एक बार के लिए डर सी गयी थी. १ मिनट से ज्यादा देर डर रहा नहीं, मज़े से उनका लंड अपनी चुचियो पर रगड़ने लगी और उसके बाद, उसने आहे भरी. मेरी चूत तो पहले ही पानी – पानी हो चुकी थी. मुझे तो ये देखने का दिल हुआ, कि जब ये छुटेगा. तो इसके लंड में से कितना सारा माल निकलेगा.

मुझमे चुदाई करवाने जितना सब्र नहीं था. मुझे उसका माल मेरे मुह में चाहिए थ