loading...
Get Indian Girls For Sex
   

11825586_960973963960580_9000642893951890549_n
मेरा नाम आरती है. मेरी उमर 28 साल है . मैं उस समय24 साल की थी. जब मैं पहली बार किसी से अपनी चूत चुदवाई. उसके के बाद तो मैं  लगातार अपनी चूत को मजे देती रही. और अब तो मुझे चूदायी का मशिन मिल गयी  है. और वो है मेरा छोटा भाई । अब मैं आपको मशिन मिलने की कहानी बताती हूँ. मेरे मामा के घर से इसकी शुरूआत होती है  मेरे मामा दो भाई है., अमन (38वर्ष) और आर्यन (31) इस  चुदाई  से पहले मुझे लगता था की ज्यादा उम्र के लोगो से चूत नहीं चुदवाना चाहिए लेकिन अब लगता है की सिर्फ  ज्यादा उम्र के लोगो से ही चुदवाना चाहिए.

मेरी चूत की गरमी बढ़ने लगी थी.

आज से तीन साल पहले. मेरी मामा के ससुराल में. मामी के छोटे भाई का शादी था. इस लिए मामी को अपने घर जना था. तो बड़े मामा ने खाना बनाने के लिये मुझे बुला लिया. पहले ही दिन मैं मामा के घर पहुंची तो. मामा मामी को लेकर छोड़ने अपने ससुराल चले गए. और कहा की मेरा भी खाना बना कर  रखना. मै शाम तक आ जाऊंगा . लेकिन शाम को फ़ोन आया और बड़े मामा,छोटे मामा से  बोले. गायों को रमेश चौधरी से दुहावा  लेना क्यूंकि मैं रात को नहीं आ पाउँगा. अब हम और आर्यन मामा अकेले घर पर रह गए थे. हमलोगो ने खाना खाया और सोने केलिए छत पर चले गए. गर्मी का मौसम था. हमलोगों ने अलग अलग बिस्तर बिछाया. कफि देर तक बात करते रहे. बाद में मुझे नींद आने लगी और मै सो गयी. रात को मुझे पिसाब लगा. मै उठी और देखा छत पर पिसाब करने का जगह नहीं है. इसलिए मै निचे जाने लगी. मुझे लगा की वहां कोई मेरे  पीछे आ रहा है. मै डर गयी ,और दौड़कर ऊपर आयी. और अपने बिस्तर पर  सोने की कोशिश करने लगी. लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैंने अपना बिस्तर छोटे मामा के बिस्तर से सटा लिया. अब मेरा डर तो दूर होगया क्यूंकि आर्यन मामा पास में ही थे.  लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी . चुकिं मैंने  पिसब नहीं किया था इसलिए मेरा हाथ हमेशा मेरी चूत पर जा रहा थी. तबतक आर्यन मामा ने करवट बदला और मेरे तरफ मुड़े . उनका जांघ मेरे जांघ से  सैट गया . मुझे नींद तो आ नहीं रही थी. मैं वैसे ही सोने की कोशिश कर रही थी. थोड़ी देर बाद मेरे जांघ में लगा की मामा का लंड टाइट हो रहा है और मेरे जांघ में चुभ रहा है . मैंने भी करवट बदल लिया और अपनी पीठ मामा के ओर कर लिया ताकि हम दोनों में थोड़ी  दुरी बन जाये. और सोने की कोशिश करने लगी थोड़ी देर बाद मामा का अंगूठा मेरी तलवा में सट गया और मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे पुरे शारीर में बिजली शर्सराहट के साथ दौड़ गयी है. मेरी चूत पर लगा एक साथ हजारो चीटियाँ रेंग रही है. मैंने अपना पैर  हटा लिया. लेकिन थोरी देर बाद लगा की वैसे ही मज़ा आ रहा था . मैंने अपना चुत्तर   थोडा सा पीछे किया और मामा से सट गयी. और चुचाप सोने का नाटक करने लगी. थोरी देर बाद मामा का लंड फिर से मेरे चुत्तर को छेदने लगा. मैंने कुछ भी रिएक्शन नहीं किया . मामा को लगा मै सो रही हु.  उन्होंने अपना लंड अंडर वियर से बहार निकल कर. मेरे गांड पर सटा दिया. मेरे चूत को गर्मी आने लगी थी. मामा धीरे धीरे  मेरे गांड को अपने लंड से दबाये जा रहे. मैंने बहूत देर तक इंतजार किया की मामा अपने ही मेरी पजामी खिसका देंगे . लेकिन काफी देर तक इंतजार करने के बाद मै समझ गयी. मामा डर रहे है और वो मेरी पजामी नहीं खोलेंगे. तो मैंने अपना करवट बदला . मामा सट से पीछे हट गए. मैंने जागने का नाटक किया और बोली मामा मामा . लेकिन वो नहीं बोले. मै समझ गयी वो नाटक कर रहे है. मै छत के कोने में जाकर. पजामी निचे कर पिसब करने लगी. शुशुशुशुशुशूऊऊऊऊऊऊऊऊ…………………………

चांदनी रात थी सब कुछ साफ साफ दिखाई दे रहा था मै जान रही थी की मामा सब देख रहे होंगे. लेकिन चुप चाप सर निचे कर के पिसब कर लिया. और थोडा सा पिसाब अपनी पजामी पर भी कर लिया. ताकि पजामी खोल सकू. फिर कड़ी होकर अपनी पजामी चढ़ाया. और आकर अपने बिस्तर पर बैठी. और मामा को जगायी . मामा देखिये न मेरी पजामी भींग गयी है. निचे चलिए मै बदल लूँ. मामा ने कहा नींद आरही है. सो जाओ. मैंने अपनी पजामी को टांग कर. बिस्तर पर लेट गयी. मै सोने का नाटक करने लगी. थोरी देर तक मामा ने इंतजार किया . फिर मेरी तरफ खिसक आये. और मेरे मम्मो को अपने हाथ से टच करने लगे. मुझे गर्मी आने लगी थी मेरा  मन तो कर रहा था की मै अपने टॉप और ब्रा को खोल कर अपने मम्मो को मामा के हाथ में पकड़ा दूँ ? लेकिन डर लग रहा था इसी तरह मामा को भी डर लग रहा था . फिर मामा ने अपना हाथ मेरी पेंटी के ऊपर रख दिया. अब तो मुझसे रहा नहीं जा रहा था. मामा मेरी चूत के ऊपर हाथ फेर रहे थे. मै बहुत गरम हो गयी थी. उसके बाद मामा ने अपना लंड जांघिया से निकल कर मेरे हाथ से सटा दिया. और मेरी चूत पर हाथ फेरने लगे. फिर मेरी पेंटी को साइड से हटा कर मेरी चूत के होठो को सहलाने लगे. मेरे पुरे  शारीर में करंट दौड़ रहा था . मै बिलकुल उत्तेजित हो गयी थी. मै करवट बदली   और अपने चुत्तर को मामा के तरफ कर दिया. थोरी देर बाद मामा फिर से सुरु हो गए वे  फिर मेरी चुत्तर में अपना लंड चुभाने लगे. अबकी बार रहा नहीं गया मामा से. थोरी देर बाद मामा ने मेरे चड्ढी निचे सरका दिया. और अपना लंड मेरे चूत पर रख कर धकेलने लगे . लेकिन वह  भीतर नहीं जा रहा था. इसलिए मामा ने मेरे चूत पर थूक लगाया,और अपने लंड में भी थूक लगाया और इसबार धक्का लगाया तो  उनका सुपाडा मेरे चूत में घुस गया. लेकिन मुझे दर्द हुआ और मै उठ कर बैठ  गयी. और  नखड़ा कर बोली. मामा ये क्या कर रहे हो. मामा ये क्या कर रहे हो ? मै बड़े मामा से बोलूंगी की आपने मेरे जैसे बची के साथ ये सब किया है. .

तो मुझे लगा की तुम ये सब करवाना चाहती हो. इसीलिए तुमने अपना पजामी खोल कर. मुझसे सट कर सोयी. इसलिए मैंने ये सब किया. तब मैंने स