loading...
Get Indian Girls For Sex
   

मेरी ब्ल्यू फिल्म पाँच लड़कों के साथ रंडी की तरह चुदवाते हुए बनाई पाँच लड़कों के साथ मेरी ब्ल्यू फिल्म - Hindi Sex Stories

मेरी ब्ल्यू फिल्म पाँच लड़कों के साथ रंडी की तरह चुदवाते हुए बनाई पाँच लड़कों के साथ मेरी ब्ल्यू फिल्म - Hindi Sex Stories

पाँच लड़कों के साथ मेरी ब्ल्यू फिल्म - Hindi Sex Stories : मेरा नाम सुषमा, उम्र 36 साल है। मैं एक शादीशुदा औरत हूँ। मैं सेक्स में बहुत रुचि रखती हूँ। मेरे पति विनोद एक अध्यापक हैं।यह भी देखे लंड खड़ा हो जायगा >>> दादाजी के दोस्तों ने मिलकर पोती को चोदा Images वो लंबे और सुन्दर दीखते हैं। वो मेरे सौन्दर्य के कायल हैं। मैं और मेरे पति ब्लू फिल्म देखते हैं और इन्टरनेट पर मुझे काफी लड़कों ने नंगा भी देखा है, वह मेरे पति की महेरबानी है। मेरे पति अक्सर मैसेन्ज़र पर चैटिंग करते हैं और लड़कों को मुझे नंगा दिखाते हैं। इससे उनको मज़ा आता है, हालांकि मुझे भी कोई फर्क नहीं पड़ता।

एक दिन की बात है जब शाम को मेरे पति पॉँच 18 से 20 साल के लड़कों के साथ चैट कर रहे थे। वो सब एक ही कैम पर थे और मेरे पति ने मुझे उनके सामने नंगा होने को कहा। मैं फटाफट अपने कपड़े उतारकर नंगी हो गई। उस वक़्त जैसे मेरे मन में कुछ नया विचार आ रहा था, मैं उन पांचों से चुदवाना चाहती थी। मैंने उनका आईडी याद रखकर दूसरे दिन जब विनोद स्कूल गए तब मैंने मैसेन्ज़र में आईडी डाला। इत्तिफाक से उनमें से एक लड़का ऑनलाईन था मैंने उससे चैट किया और मैंने उसे बताया कि मैं विनोद की पत्नी हूँ। फिर उसने मुझे कैन पर नंगा होने को कहा।

मैंने ऐसा ही किया।

फिर मैंने उससे कहा- मैं तुम पांचों से एक साथ चुदवाना चाहती हूँ।

वह मान गया और उसने मुझे दो दिन के बाद रात को उसके घर आने को कहापर मैं रात को नहीं जा सकती थी, तो हमने जब विनोद स्कूल जायें तब मेरे घर पर अगले दिन ही आने का कार्यक्रम बनाया। मैंने उसका फोन नंबर ले लिया और कहा- जब विनोद स्कूल के लिए निकलेंगे, तब मैं मिसकॉल कर दूंगी।

तो हमारी बात पक्की हो गई।

उस दिन मैं खूब उत्साहित थी। मैंने काफी लड़कों को उस दिन अपना नंगा बदन दिखाया। मुझे इसकी आदत हो चुकी थी। मैं हर वक्त कल का इंतज़ार कर रही थी। उस दिन रात को विनोद के लंड का जी भर के मज़ा लिया पर मैं उस वक्त दूसरे दिन के बारे में सोच कर सेक्स में इतना सहयोग दे रही थी।

अगली सुबह हुई और मैंने विनोद के लिए नाश्ता बनाया। विनोद नाश्ता कर के कपड़े पहनने लगे और बोले- आज स्कूल में ऐक्स्ट्रा क्लास है।

मैं मन ही मन खुश हुई और नहाने चली गई। मैंने नहाने के बाद एकदम तंग ब्रा पहनी जिससे मेरे स्तन एकदम सिकुड़ गए। फिर मैंने गुलाबी रंग की साड़ी पहनी और एकदम उत्तेजक परफ़्यूम लगाया। फिर मैंने उस लड़के को मिसकॉल दिया।

उसने फोन किया और मैंने कहा- पीछे के रास्ते से आ जाना !

मैंने उसको पता तो दे ही दिया था।

दस मिनट के बाद वो सब आ गए। पांचों एकदम हैंडसम दिख रहे थे। मैंने सब को बिठाया और उनको पानी दिया फिर चाय नाश्ता कराया।

मैंने उन सबसे नाम पूछा तो उनके नाम घनश्याम, गुलशन, सुरेश, जय और ललितथे। उनमें से ललितमुझे सबसे अच्छा लगा था। हमने पहले सामान्य घर-बार की बातें की फिर घनश्याम बोला- मैं ब्लू फिल्म की सीडी लाया हूँ।

मैंने कहा- ठीक है ! चलो बेडरूम में चलते हैं।

फिर जय ने ब्लू फिल्म लगाई। उसमें भी एक लड़की को पाँच मर्द चोद रहे थे। मैं बिस्तर पर ललित के आगे और आजू-बाजू बाकी के बैठे थे।

अचानक ललितने मेरी पीठ पर हाथ फेरना चालू कर दिया। मैंने बगल में बैठे घनश्याम की जांघ पर हाथ रखा, घनश्याम ने मेरा हाथ पकड़कर उसके लंड पर रख लिया जो काफी बड़ा था। फिर मैंने उसका लंड निकाला और उसे हिलाने लगी।

तभी सुरेश बोला- रुको, अभी नहीं !

उसने जय को आंख मारते हुए कहा- मैं कुछ लाता हूँ !

मैंने कहा- क्या ?

तो गुलशन बोला- रुक तो सही रंडी भाभी !

मुझे उसकी गाली से मजा आ रहा था, मैं कुछ बोली नहीं !

थोड़ी ही देर में सुरेश कैमरा और दो आदमी लाया।

मैंने कहा- यह सब क्या है?

तो जॉन ने मेरे स्तन दबाते हुए कहा- यह दोनों हमारी ब्लू फिल्म बनायेंगे !

मैंने मना किया पर वो लोग नहीं माने।

गुलशन बोला- भाभी, चुदवाना है तो बोल ! नहीं तो हम चलते हैं?

मुझमें वासना कूट-कूट कर भरी थी, तो मैंने कहा- ठीक है !

हालांकि मैं मन ही मन चाहती थी कि मेरी ब्लू फिल्म बने।

फिर वो आदमी बोले- अब शुरु करो ! हम कैमरा ऑन करते हैं !

वो बोले- ठीक है !

फिर कैमरा-मैन ने सुरेश के सामने कैमरा रखा, उसने हम सबका परिचय दिया। फिर ललितआगे बढ़ा और मेरे होंठों पे चूमने लगा। पीछे से गुलशन मेरे स्तन दबाने लगा। फिर जॉन ने मेरी साड़ी उतारी, मैं अब सिर्फ ब्लाउज़ और पेटीकोट में ही थी।

फिर सुरेश ने मेरे वक्ष पर किस किया और मेरा ब्लाउज़ एक ही झटके में फाड़ डाला।

तभी कैमरा-मैन बोला- उस भाभी को बोल कि थोड़े नखरे दिखाए !

मैंने अपने स्तनों को पकड़कर कर वासना से भरी हुई हंसी निकाली। फिर जय ने मुझे बिस्तर पर बैठने को कहा। मैं बैठ गई और जय ने लम्बा सा लण्ड मेरे मुँह में धर दिया। मैं उसे चूसने लगी। फिर गुलशन ने मेरी ब्रा खोल दी मेरे बड़े बड़े स्तन लहरा कर बाहर आ गये। फिर सुरेश और गुलशन मेरी चूचियों को चूसने लगे। जय का लंड मैंने फिर से मुँह में ले लिया। घ