Get Indian Girls For Sex

रांड की तरह मस्त होकर मेरे लंड को लोलीपॉप समझकर चूस रही थी

Mom tries new bra and panty in front of bra seller and fucked Full HD Nude fucking image Collection_00019

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम करन है और मेरी उम्र 20 है. दोस्तों मेरे साथ यह घटना कुछ साल पहले घटित हुई और यह मेरी मामी के साथ घटी. मेरी मामी बेहद सुंदर, हॉट, सेक्सी और चालाक है. मेरे मामा और मामी की शादी तब हुई थी जब में शायद 4 या 5 क्लास में पढ़ता था, उनकी शादी के बाद में वहां पर उनके साथ कई दिनों तक रहा और वो मुझे अपने साथ कमरे में भी सुला लेते थे और वो मेरे बहाने एक दूसरे से प्यार की बातें किया करते थे और एक दूसरे को इशारे करते थे.

दोस्तों एक रात जब में उनके कमरे में सोया तो रात को मुझे पेशाब आ गया तो में नींद में उठकर टॉयलेट की तरफ चला और जब में लौटकर वापस आया और जो मैंने उस समय देखा तो में देखकर एकदम हैरान हो गया, क्योंकि उस उम्र में मुझे सेक्स के बारे में कुछ भी पता नहीं था. मैंने देखा कि मेरे मामा और मामी दोनों पूरे नंगे होकर एक दूसरे से चिपककर सो रहे थे, मेरी मामी के गोल गोल बूब्स और एकदम साफ और गुलाबी चूत मुझे नज़र आ रही थी और उस समय मेरे मामा भी पूरे नंगे थे और मामी के पीछे से चिपककर अपना लंड उनकी चूत में डालकर सो रहे थे. अब में उन्हें इस तरह देखकर बहुत हैरान था, लेकिन तब तक मुझे सेक्स के बारे में कुछ भी पता नहीं था तो मैंने उन दोनों पर एक चादर उठाकर डाल दी और फिर में भी सो गया. दोस्तों मैंने आज पहली बार एक जवान लड़की और लड़के को नंगा देखा था.

फिर सुबह में उठकर दूसरे कमरे में चला गया और तब तक वो दोनों उठकर तैयार हो चुके थे और फिर धीरे धीरे समय निकलता गया और अब मेरी अपनी मामा के साथ बहुत अच्छी बात होने लगी, में अक्सर अपने स्कूल की छुट्टियों में उनके यहाँ पर जाता और पूरा दिन मामी के साथ रहता और अब मेरा मामी के साथ बहुत प्यार बन गया था तो वो भी मुझसे अब बहुत सारी बातें शेयर करने लगी और जब में बड़ा हुआ तो वो मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछती तो में उन्हें मज़ाक में कहता कि आप हो ना तो वो कहती क्यों? तो में कहता कि में आपसे हर एक बात शेयर करता हूँ तो वो हंस दी और मेरी हाँ में हाँ मिलाती और वैसे मैंने उन्हे अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में सब कुछ सच बता रखा था, में उनसे अपनी बहुत सारी बातें करता और वो भी मुझे अपनी बहुत सारी बातें बताती थी. वो अपनी लाईफ से बहुत खुश थी और इस दौरान उनको एक लड़का हुआ, जिसके साथ में बहुत खेलता था और बहुत मस्ती करता था.

फिर धीरे धीरे जब मुझे सेक्स के बारे में पता चला तो मुझे वो रात याद आई और मेरे समझ में आया कि उस दिन मामा और मामी नंगे क्यों थे? सेक्स के बारे में जानने के बाद मेरा भी मन सेक्स करने को करता है और फिर एक बार में अपने मामा के घर गया तो वहां मेरे पहुंचने के बाद मामा अपनी नौकरी के सिलसिले में इंडिया से बाहर जाने की बात हुई और उन्हें जुलाई में बाहर जाना था. फिर उन दिनों मामी बहुत उदास रहने लगी, लेकिन वो बहुत खुश भी थी, क्योंकि मामा पहली बार काम के सिलसिले में बाहर जा रहे थे और में अपनी मामी के साथ बिल्कुल अकेला रहने वाला था और अब में उनके साथ रहकर बहुत अच्छा महसूस कर रहा था.

मैंने अपनी मामी से उनकी उदासी का कारण पूछा तो उन्होंने यह कहकर टाल दिया कि तुम अभी छोटे हो और तुम्हे इन बातों के बारे में इतना पता नहीं है, तुम नहीं समझोगे. फिर मैंने कहा कि जिसकी एक गर्लफ्रेंड हो वो क्या कोई छोटा होता है? में सब कुछ समझता हूँ, लेकिन आप ही मुझे बताना नहीं चाहती तो उन्होंने कहा कि तुम तो जानते ही हो कि तुम्हारे मामा को एक महीने के लिए बाहर जाना है तो वो जाने की तैयारी में मेरे साथ समय ही नहीं बिता पाते है और वो पूरे दिन भर ऑफिस और रात को जाने की तैयारी में लगे रहते है. फिर मैंने मामी से कहा कि आप मेरे साथ अपना समय बिता लिया करो तो वो मेरी यह बात सुनकर ज़ोर से हंस दी और मुझे पागल कहने लगी.

दोस्तों पहले तो मुझे कुछ भी समझ नहीं आया, लेकिन फिर कुछ देर बाद मेरे दिमाग़ की बत्ती जली और मेरे समझ में आया कि मामी क्या बात कर रही थी? और उस दिन से पहले मेरे दिमाग़ में मामी के लिए कोई भी ग़लत सोच नहीं थी, लेकिन उस दिन से और मामी की उस हँसी को देखने के बाद मेरा मन अचानक से बदल गया और में मामी के बारे में सोचने लगा, क्योंकि वो थी ही इतनी सेक्सी कि जो कोई उन्हें देख ले तो बस पागल हो जाता था. अब मेरी हालत भी उस दिन के बाद ऐसी हो गई. मेरे पेपर खत्म हुए और मामाजी की फ्लाइट भी अगले सप्ताह थी और अब मेरी गर्मी की छुट्टियाँ भी शुरू हो गई थी तो मामा ने मुझे वहां पर बुला लिया था.

फिर मेरा अपनी मामी को लेकर झुकाव बहुत बड़ चुका था तो मैंने बहुत बार उनके बारे में सोचकर मुठ मार लेता था और उनको लेकर अब मेरी सोच बिल्कुल बदल चुकी थी, अब में उन्हें अब सेक्सी और गंदी नज़र से देखने लगा, ज्यादा गर्मी होने की वजह से वो अब अपने कपड़ो में ज्यादा गहरे गले के कपड़े पहनने लगी थी, जिस वजह से उनकी छाती और मोटे मोटे बूब्स का पूरा सेक्सी हिस्सा मुझे देखने को मिलता था और जिसे देखकर मेरा लंड खड़ा होकर हर कभी तन जाता था.

एक दिन में उनके पास बेड पर बैठा हुआ था तो वो मेरे पास आकर कुछ लेने के लिए जैसे ही नीचे झुकी तो मेरी नज़र उनके बूब्स पर पड़ी तो मेरा लंड मेरी आधी पेंट में आधा तन गया और मैंने उस दिन अंडरवियर नहीं पहना हुआ था. अब मामी उसे देखकर मुझे देखने लगी तो में एकदम से घबरा गया और आँखें झुकाकर दूसरी तरफ घूम गया. दोस्तों मुझे पहले ही पता था कि वो रात को ब्रा, पेंटी नहीं पहनती है और वो उन्हें बाथरूम में लटकाकर आती है तो में हर रोज टॉयलेट के बहाने उनकी ब्रा, पेंटी चूसने और चाटने जाता था और बाद में शाम को जब वो मेरे सामने आई तो मैंने देखा कि उनके चेहरे पर एक अज़ीब सी शरारती हँसी थी.

फिर मुझे कुछ दाल में काला लगने लगा और मुझे वो काली दाल बहुत अच्छी लगी और दो दिन बाद हम मामाजी को फ्लाईट तक छोड़कर सुबह वापस आ गए और उसी शाम को सब लोग अपने घर पर चले गये, लेकिन में वहीं पर रुक गया, क्योंकि अब मामी जी घर पर अपने बेटे के साथ अकेली थी और मामा जी भी मुझसे बोलकर गये थे कि कुछ दिन मामी के पास रुक जाना और उस समय मेरी छुट्टियाँ थी तो में भी रुक गया. वैसे मेरे शैतानी दिमाग़ में वहां पर रुकने को लेकर कुछ और ही था, ज्यादा थकान के कारण मामी दूसरे कमरे में जाकर सो गई और उन्होंने अपने बेटे को भी सुला दिया और में भी ए.सी. वाले कमरे में जाकर सो गया और उस रात में सिर्फ़ अंडरवियर में सो गया, क्योंकि उस समय रूम में मेरे अलावा कोई भी नहीं था और जब में सुबह उठा तो देखा कि रूम का दरवाजा खुला हुआ था और सुबह तक मेरा लंड भी तना हुआ था और जैसा कि हर सुबह होता है.

मैंने जल्दी से कपड़े पहने और तैयार होने चला गया और मुझे लगा कि रात को कोई मेरे रूम में आया था, लेकिन घर पर मेरे मामी और उनके बेटे के अलावा कोई भी नहीं था तो मुझे यह भी अच्छी तरह से पता था कि उनका बेटा दरवाज़ा अकेले नहीं खोल सकता था. फिर मेरा शक मामी पर गया जो कि मेरे लिए एक बहुत खुशी की बात थी कि मामी ने मुझे नंगा देख लिया है.

फिर में बाहर गया तो मामी ने मुझे नाश्ता बनाकर दिया और में खाने लगा तो मामी ने मुझसे पूछा कि रात को नींद अच्छी आई या नहीं? फिर मैंने कहा कि हाँ सोने में बहुत मज़ा आया तो वो बोली कि हाँ वैसे रात को बहुत गर्मी थी तो वो भी ए.सी. वाले रूम में आकर सो गई थी और अब वहां पर मेरा शक पूरा यकीन में बदल गया कि मामी ही रात को रूम में आई थी और उन्होंने हंसते हुए मुझसे कहा कि तुम्हे रात को बार बार हिलने की आदत कब से पढ़ गयी? फिर मैंने जानबूझ कर कहा कि यह तो मुझे बचपन से है.

फिर उन्होंने मुझस